Read More..

Dard Status

You can find here lots of dard status in hindi that you can read and copy online. We have lots of dard status in hindi language for you that you can copy. The best and multiple collection of dard status in hindi that you can read status. We have lots of dard bhare status and also see gam bhare status here. On the website, you can read this dard bhare status and gam bhare status and share. We have multiple pages of dard bhari status that you can read and copy. Multiple collection of best dard bhari status and gam ke status that you can read. Read lots of dard bhari status over here and also copy gam ke status.

मेरी जिंदगी में ही ऐसा क्यूँ होता है दोस्तों, प्यार बेबफा होता जा रहा है और दोस्त मतलबी !!
डर लगता है मुझे अब हर शख्स की हमदर्दी से, एक शक्स ने दिलासे देकर मेरी दुनिया जो उजाड़ दी !!
परखा बहोत गया मुझे, लेकिन समझा नहीं गया !!
कुछ मतलबी लोग ना आते, तो जिंदगी इतनी बुरी भी ना थी !!
होती है लाखों जख्मों की दवा नींद, मगर होते है ऐसे गम भी जो सोने नहीं देते !!
अक्सर टूटे हुए लोग, रातों को देर तक जागा करते है !!
आँखों में आँसू है फिर भी दर्द सोया है, देखने वाले क्या जाने की हँसाने वाला कितना रोया है !!
जब इंसान अंदर से टूट जाता है, तो बाहर खामोश हो जाता है !!
दर्द सहते सहते इंसान उस मोड़ पे आ जाता है, की फिर उसे कुछ भी महेसुस नहीं होता !!
बहोत मुशकिल होता है ना, दिल में दर्द लिए होठों पे हँसी लाना !!
वो शख्स इतना भी अच्छा नहीं था, जितना मैंने उसको समझ लिया था !!
हमको आता नहीं जख्मों की नुमाइश करना, खुद ही रोते है, तड़पते है और सो जाते है !!
कोई नहीं है दुश्मन अपना फिर भी परेशान हूँ मैं, अपने ही क्यूँ दे रहे है जख्म इस बात से हैरान हूँ मैं !!
शिकवा करे भी तो किससे करे हम, अपनों पर मरे हम और अपनों ने ही मारा हमें !!
साँसों का टूट जाना तो दस्तूर है कुदरत का, जिस मोड़ पर अपने बदल जाये उसे मौत कहते है !!
कुछ लोग इसलिए नहीं रोते की वो कमजोर होते है, बल्कि इसलिए की वो मजबूत रहते रहते थक जाते है !!
दर्द जब हद से ज्यादा बढ़ जाए, तो वो ख़ामोशी का रूप ले लेता है !!
जरुरी तो नहीं है दोस्त, की जो मुस्कुरा रहा है वो खुश ही हो !!
वक्त इशारा देता रहा और हम इत्तेफाक़ समझते रहे, बस यूँ ही धोखे ख़ाते गए और इस्तेमाल होते रहे !!
अश्क बहकर भी कम नहीं होते, आँखें भी कितनी अमीर होती है !!
कुछ लोग जिंदगी होते है, पर हमारी जिंदगी में नहीं होते !!
दुनिया में इतने मतलबी लोग भी होते है, जो मतलब निकलते ही अपना रंग दिखाना शुरू कर देते है !!
रहने दो अब तुम मुझे पढ़ ना सकोगे, बरसात में भीगे कागज़ की तरह है हम !!
वक्त से पूछ रहा है कोई, जख्म क्या वाकई भर जाते है ?
कौन कहता है की आइना झूठ नहीं बोलता, वो सिर्फ होठों की मुस्कान देखता है दिल का दर्द नहीं !!
मुझे बारिश में चलना पसंद है, ताकि कोई मेरे आँसूं न देख सके !!
ज़िन्दगी सस्ती है साहब, जीने के तरीके महंगे है !!
यूँ असर डाला है मतलबी लोगो ने दुनियाँ पर, हाल भी पूछो तो लोग समझते है की कोई काम होगा !!
गलती ना जाने हम से कहाँ हो गई, लोग ऐसे भूल गए जैसे जानते ही नहीं !!
लोग वादें तो हजारों करते है, पर निभाते एक भी नहीं !!
लगता था की ज़िन्दगी को बदलने में वक़्त लगेगा, पर क्या पता था बदलता हुआ वक़्त ज़िन्दगी बदल देगा !!
जिन्दगी चाहती है की ख़ुदकुशी कर लूँ मैं, और मैं चाहता हूँ की कोई हादसा हो जाए !!
सुनो ठिकाने लगा दो मुझे, अब कोई ठिकाना नहीं मेरा !!
कुछ लोग बिना आँसूओं के भी, बहोत रोते है !!
देखा है हमने ये आजमा कर, धोखा दे जाते है लोग करीब आ कर !!
कोई और तकलीफ दे तो सिर्फ गुस्सा आता है, जब कोई अपना तकलीफ दे तो गुस्से के साथ रोना आता है !!
मेरे दर्द का जरा सा हिस्सा लेकर तो देखो, सदियों तक याद करते रहोगे तुम भी जनाब !!
जिनके होठों पे मुस्कान होती है, उनकी आँखें अक्सर उदास होती है !!
उम्मीद जिन लोगो से थी वो ही तन्हा कर गए, आज से किसीको नही कहेंगे की तुम मेरे हो !!
ये अलग बात है की दिखाई न दे मगर शामिल जरूर होता है, खुदकुशी करने वाले का कोई न कोई कातिल जरूर होता है !!
बड़े मजबूत हो जाते है वो लोग, जिनके पास खोने को कुछ नहीं बचता !!
शीशा टूटे और बिखर जाये वो बेहतर है, दरारे ना जीने देती है ना मरने !!
दुनिया तो टूटते हुए तारे से भी दुआ मांगती है, कौन कहता है बरबादी किसीके काम नहीं आती !!
मेरे दर्द को पढ़कर तुम मायूस ना होना यारों, हो सकता है तुम्हारी तक़दीर अच्छी हो !!
जो लोग सबकी फिकर करते है, अक्सर उनकी फिकर करने वाला कोई नहीं होता !!
आँसूं तब और भी ज्यादा निकलने लगते है, जब आपको रोने से मना करने वाला कोई भी ना हो !!
अब तो पत्थर भी बचने लगे है मुझसे, कहते है अब तो ठोकर खाना छोड़ दे !!
देश का भविष्य सड़कों पर भूखा सो रहा है, और सुना है की इंडिया डिजिटल हो रहा है !!
‎बदनसीब‬ हूँ मैं जो तुझे ‪‎खरीद‬ न पाया, ‪खुशनसीब हो तुम जो चन्द ‎रुपयों‬ में बिक गए !!
बहाना कोई तो दे ए जिन्दगी, की मैं जीने को मजबूर हो जाऊं !!