Read More..

Broken Heart Status

The best collection of broken heart status on the website that you can copy. You can read all the best broken heart status and share on whatsapp status. From here, you can copy lots of broken heart status and then share online. You can easily read and copy broken heart whatsapp status and share with friends. On the website, we have lots of broken heart whatsapp status for you. See the best collection of heart break status and also see sad broken status here. You can copy lots of heart break status and read lots of sad broken status. We have lots of broken status in hindi language and you can copy and paste. Lots of broken status in hindi that you can read and share this heart status.

बड़ी मुश्किल से सीखा है खुश रहना उन के बगैर, अब सुना है ये बात भी उन्हे परेशांन करती है !!
अजीब दस्तूर है मोहब्बत का दोस्तो, रूठ कोई जाता है तो टूट कोई जाता है !!
तुम से बिछड के फर्क बस इतना हुआ, तेरा गया कुछ नहीं और मेरा रहा कुछ नहीं !!
कभी उदास बेठी हो तो बताना, हम फिर से दिल दे देंगे खेलने के लिए !!
उसने पुछा जिंदगी किसने बरबाद की, हमने ऊँगली उठाई और अपने ही दिल पर रख ली !!
अरे कितना झुठ बोलते हो तुम, खुश हो और कह रहे हो मोहब्बत भी की है !!
वो तरस जायेगी प्यार की एक बूंद के लिए, मैं तो बादल हूँ किसी और पे बरस जाऊंगा !!
मैं अब भी बाजार से अक्सर खाली हाथ लौट आता हूँ, पहले पैसे नहीं थे और अब ख्वाहिशें नहीं रही !!
अजीब कशमकश है जान किसे दे, वो भी आ बैठे और मौत भी !!
सिर्फ दिल ही दाव पर लगाया था, पर उसने तो मेरी जान ही ले ली !!
ना पीछे मुड़ के तुम देखो, ना आवाज़ दो मुझ को, बड़ी मुश्किल से सीखा है तुमको अलविदा कहना !!
ए चिरागों ना इतराओ तुम खुद पर इतना, तुमसे तेज़ तो हमारे दिल जला करते है !!
अब किसी और से मोहब्बत कर लूं तो शिकायत मत करना, ये बुरी आदत भी मुझे तुमसे ही लगी है !!
दिल है की पेन्सिल की नोक, थोड़ी थोड़ी देर में टूट जाता है !!
तेरी मासूमियत के मारे है....... वरना हम भी पत्थर का जिगर रखते थे !!
तुम गए तो फिर कभी सवेरा ही नहीं हुआ, कमबख्त रात ही होती रही हर रात के बाद !!
कभी मिले तुम्हे फुरसत तो इतना जरुर बताना, वो कौनसी मोहब्बत थी जो हम तुम्हे दे ना सके !!
मेरा हाल देखकर मोहब्बत भी शर्मिंदा है की, ये शख्स सब कुछ हार गया, फिर भी ज़िंदा है !!
दिल से पूछो तो आज भी तुम मेरे ही हो, ये ओर बात है की किस्मत दग़ा कर गयी !!
मुझे मंजूर थे वक़्त के सब सितम मगर, तुमसे मिलकर बिछड़ जाना, ये सजा ज़रा ज्यादा हो गयी !!
नाकाम मोहब्बत भी बड़े काम की होती है, दिल मिले ना मिले इलज़ाम जरुर मिल जाता है !!
उसी का शहर, वही खुदा और उसके ही गवाह, मुझे यकीन था की कुसूर मेरा ही निकलेगा !!
सुकून मिलता है दो लफ्ज कागज पर उतारकर, कह भी देता हूँ और आवाज भी नही होती !!
चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह, मगर ख़ामोश रहता हूँ, अपनी तक़दीर की तरह !!
जिंदगी खर्च कर दी तुझे पाने की चाहत में, इससे बडी कीमत क्या होती तेरे प्यार की !!
तेरी ख़ुशी की खातिर मैंने कितने ग़म छिपाए, अगर मैं हर बार रोता तो तेरा शहर डूब जाता !!
छुपा के दिल में गमों का जहाँन बेठे है, तेरी महेफील में हम बेजुबान बैठे है !!
लगता है खुदा का बुलावा आने वाला है, आज कल मेरी झूठी कसम खा रही है वो पगली !!
किसी भी मौसम में खरीद लीजिये जनाब, मोहब्बत के जख्म हंमेशा ताजे ही मिलेंगे !!
अगर यह इश्क इतना आसान होता तो, आशिकों के जनाजे नहीं निकला करते !!
मोहब्बत तो भगवान कृष्ण की भी अधूरी ही थी, खैर हम तो फिर भी मामूली से इंसान है !!
बहोत थे मेरे भी इस दुनिया में अपने, फ़िर इश्क़ हुआ और हम लावारिस हो गए !!
उन्होंने वक़्त समझकर गुज़ार दिया हमको, और हम उनको ज़िन्दगी समझकर आज भी जी रहे हैं !!
हद से बढ़ जाये ताल्लुक तो ग़म मिलते है, हम इसी वास्ते अब हर शख्स से कम मिलते है !!
इजाज़त दी थी हमने शरारत करने की तुम्हें, पर तुमने जो तोड़ा वो मेरा दिल था !!
नींद भी नीलाम हो जाती है बाज़ार -ए- इश्क में, किसी को भूलकर सो जाना इतना आसान नहीं होता !!
ऐ दिल थोड़ी सी हिम्मत कर ना यार, दोनो मिलकर उसे भूल जाते है !!
सच कहू तो में आज भी इस सोच में गुम हूँ, मैं तुम्हे जीत तो सकता था जाने फिर भी हारा क्यों ?
ख्वाब आँखों से गए, नींद रातों से गई, वो गए तो ऐसा लगा की जिन्दगी हाथों से गई !!
जिदंगी ने भी आज पुछँ ही लिया की वो शक्स‬ आज कहाँ पर है, जो कभी मुझसे भी प्यारा‬ हुआ करता था !!
आज भी एक सवाल छिपा है दिल के किसी कोने में, क्या कमी रह गई थी तेरा होने में !!
ज़िन्दगी तो हमारी भी शानदार थी, मगर मोहब्बत ने बिच में शरारत कर दी !!
ये भी अछा है की हम किसीको अच्छे नहीं लगते, चलो कोई रोयेगा तो नहीं हमारे मर जाने के बाद !!
तुझे मोहब्बत कहाँ थी बस दिल्लगी थी, वरना मेरा पल भर का बिछड़ना भी तेरे लिए कयामत होता !!
तुझे किस्मत समझ कर सीने से लगाया था, भूल गए थे की किस्मत बदलते देर नहीं लगती !!
हम भी हुआ करते थे वकील इश्क वालों के कभी.. नज़रे उनसे क्या मिली, आज खुद कटघरे में है !!
उठाकर फूल की पत्ती उसने बङी नजाकत से मसल दी, इशारो इशारो में कह दिया की हम दिल का ये हाल करते है !!
मत सोना किसी के कंधे पे सर रख कर, जब वो बिछड़ते है तो तकिये पे भी नींद नहीं आती !!
तेरे रोने से उन्हे कोई फर्क नहीं पड़ता ऐ दिल, जिनके चाहने वाले ज्यादा हो वो अक्सर बेदर्द हुआ करते है !!